स्टैचू ऑफ यूनिटी पर मॉकड्रिल, भूकंप से निपटने की तैयारियां परखीं

Aajtak | 6 days ago | 23-11-2022 | 03:55 am

स्टैचू ऑफ यूनिटी पर मॉकड्रिल, भूकंप से निपटने की तैयारियां परखीं

दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा स्टैचू ऑफ यूनिटी में मंगलवार को प्रशासन की तरफ से मॉकड्रिल की गई. ये मॉकड्रिल भूकंप की स्थिति से निपटने की तैयारियों को लेकर की गई. इसके लिए बाकायदा स्टेच्यू ऑफ यूनिटी के अंदर हजारों की भीड़ पहुंची, उसी दौरान भूकंप का झटका महसूस किया गया, जिसके बाद मौके पर अफरा-तफरी मची और तुरंत लोगों को संभाला गया. तीन टूरिस्ट को हल्की चोटें आई हैं. बाकी सभी को सुरक्षित निकाल लिया गया.ये पूरी मॉकड्रिल जिला प्रशासन की देखरेख में की गई. भगदड़ मचने का कारण यह था कि यहां पर भूकंप के हल्के झटके थे. दरअसल, स्टैचू ऑफ यूनिटी देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग यहां पर आ रहे हैं. 2018 के बाद इस साल के भीतर ही एक करोड़ से भी ज्यादा टूरिस्ट यहां पर आ चुके हैं. हर साल दीपावली पर ही 60 से 70 हजार टूरिस्ट आते हैं.अभी भी यहां पर टूरिस्ट की तादाद दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है. ऐसे में इमरजेंसी की स्थिति में लोगों को सुरक्षित करने को लेकर मंगलवार को यहां मॉकड्रिल किया गया. थोड़े दिन पहले यहां पर आग लगी थी, इसी एरिया में मॉकड्रिल किया गया. अभी जो मॉकड्रिल किया गया, वो भूकंप की स्थिति से निपटने के लिए था.सबसे पहले यहां ऐसी अफवाह फैली कि भूकंप आयाा है, जिसके बाद लोगों में भगदड़ मची. स्टेच्यू ऑफ यूनिटी के 135 मीटर उंचाई पर व्यूइंग गैलेरी से 80 लोग जान बचाने के लिए रास्ता ढूंढते देखे गए. इसी भगदड़ में एक टूरिस्ट बेहोश हो गया, उसे इमरजेंसी रिस्पॉन्ड टीम लिफ्ट के जरिए नीचे लेकर आई.मॉकड्रिल के बाद जिला कलेक्टर ने बताया कि डिजास्टर की मॉकड्रील रखी गई थी. जिसने भूकंप, अचानक आग लगना पर और भगदड़ जैसी स्थिति से निपटने की तैयारियों को परखा गया. ये मॉकड्रिल सफल हुई है. मॉकड्रील में सुरक्षा टीम, फायर, मेडिकल की टीम को जोड़ा गया था.

Google Follow Image