Gujarat Election: पीएम मोदी ने पूछा, राष्ट्रपति चुनाव में कांग्रेस ने आदिवासी महिला का क्यों नहीं किया समर्थन

Jagran | 6 days ago | 23-11-2022 | 06:02 am

Gujarat Election: पीएम मोदी ने पूछा, राष्ट्रपति चुनाव में कांग्रेस ने आदिवासी महिला का क्यों नहीं किया समर्थन

दाहोद (गुजरात), एजेंसी। गुजरात में चुनाव प्रचार काफी जोर-शोर से चल रहा है। सभी पार्टियों ने चुनाव प्रचार में एड़ी चोटी का जोर लगा दिया है। पीएम मोदी पिछले तीनों दिनों गुजरात में जनसभाएं और रोडशो कर रहे हैं। यहां पर उनके निशाने पर कांग्रेस पार्टी है। दाहोद में जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को सवाल किया कि अगर विपक्षी दल को आदिवासियों की इतनी चिंता है तो कांग्रेस ने राष्ट्रपति चुनाव में द्रौपदी मुर्मू का समर्थन क्यों नहीं किया। वह मध्य गुजरात के आदिवासी बहुल दाहोद शहर में क्षेत्र में भाजपा उम्मीदवारों के लिए एक चुनावी रैली में बोल रहे थे। विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में 5 दिसंबर को मध्य गुजरात के निर्वाचन क्षेत्रों में मतदान होगा।Gujarat: 32 साल से पबुभा मानेक का अभेद्य किला है 'द्वारका', कांग्रेस निर्दलीय या BJP जिस पार्टी से लड़े जीते यह भी पढ़ें सूरत जिले के आदिवासी बहुल महुवा गांव में सोमवार को एक रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर आदिवासियों के अधिकार छीनने का आरोप लगाया था। पीएम मोदी ने भाषण में गांधी और उनकी चल रही भारत जोड़ो यात्रा का जिक्र किया।प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि एक व्यक्ति सत्ता वापस पाने के लिए पदयात्रा कर रहा है। अपने भाषण में वह आदिवासियों के बारे में बात करता है। मैं उससे पूछना चाहता हूं कि कांग्रेस ने राष्ट्रपति चुनाव में भाजपा की महिला आदिवासी उम्मीदवार का समर्थन क्यों नहीं किया? इसके बजाय उसे हराने के लिए उन्होंने अपना खुद का चुनाव मैदान में उतारा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के प्रयासों के बावजूद द्रौपदी मुर्मू आदिवासी लोगों के आशीर्वाद से राष्ट्रपति बनीं।Gujarat Vidhan Sabha Chunav 2022: सूरत में इनोवा कार से मिले 75 लाख रुपये, पुलिस को देखकर भागे कांग्रेस नेता यह भी पढ़ें Unparalleled enthusiasm at @BJP4Gujarat rally in Dahod. People are supporting BJP's development agenda. https://t.co/qGOk3VES0uपीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने कभी एक आदिवासी (आदिवासी) को अपना राष्ट्रपति बनाने के बारे में क्यों नहीं सोचा? यह भाजपा ही थी जिसने पहली बार एक आदिवासी व्यक्ति को वह भी एक महिला को हमारे देश का राष्ट्रपति बनाया और दुनिया को एक संदेश दिया।Morbi Bridge Case: सभी पुलों का कराएं सर्वे, डबल करें मुआवजा राशि- राज्य सरकार को हाई कोर्ट की फटकार यह भी पढ़ें उन्होंने कांग्रेस पर दाहोद के ब्रिटिश काल के परेल क्षेत्र के विकास पर ध्यान नहीं देने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि लेकिन पीएम के रूप में मैंने इसे याद किया और अब रेलवे लोकोमोटिव के निर्माण के लिए यहां 20 हजार करोड़ रुपये का निवेश आया है। इन लोकोमोटिव को अन्य देशों में भी निर्यात किया जाएगा। इस भारी निवेश से अंततः स्थानीय लोगों को फायदा होगा। पीएम मोदी ने कहा कि दाहोद जिले को भाजपा सरकार के तहत इंजीनियरिंग और नर्सिंग कालेज, एक मेडिकल कालेज, नल के पानी के कनेक्शन और स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत सुविधाओं के विकास सहित कई सुविधाएं और लाभ प्राप्त हुए हैं।Gujarat Chunav 2022: गुजरात में सबसे कम उम्र में MLA बनने का रिकॉर्ड, कौन हैं गृह मंत्री हर्ष सांघवी? यह भी पढ़ें इसे भी पढ़ें: Gujarat Chunav 2022: जामनगर के शाही वंशज ने डाला गुजरात चुनाव का पहला वोट, पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखी ये बातइसे भी पढ़ें: Gujarat Chunav 2022: उंझा के लोगों को मोदी ने क्यों लगाई थी फटकार, मेहसाणा रैली में पीएम ने खुद बताया

Google Follow Image