देश का फोकस ग्रीन जॉब्स पर - राज्यों के पर्यावरण मंत्रियों से बोले PM मोदी

News18 | 1 day ago | 23-09-2022 | 09:00 pm

देश का फोकस ग्रीन जॉब्स पर - राज्यों के पर्यावरण मंत्रियों से बोले PM मोदी

अहमदाबाद. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा क‍ि गुजरात के एकता नगर में राज्‍यों के पर्यावरण मंत्र‍ियों के दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ‘आज का नया भारत, नई सोच, नई अप्रोच के साथ आगे बढ़ रहा है. आज भारत तेज़ी से विकसित होती अर्थव्यवस्था भी है, और निरंतर अपनी इकोलॉजी को भी मजबूत कर रहा है. उन्‍होंने कहा क‍ि हमारे फॉरेस्‍ट कवर में वृद्धि हुई है और वेटलैंड्स का दायरा भी तेज़ी से बढ़ रहा है.’ उन्‍होंने कहा क‍ि ‘अपने कमिटमेंट को पूरा करने के हमारे ट्रैक रिकॉर्ड के कारण ही दुनिया आज भारत के साथ जुड़ भी रही है. बीते वर्षों में गिर के शेरों, बाघों, हाथियों, एक सींग के गेंडों और तेंदुओं की संख्या में वृद्धि हुई है. कुछ दिन पहले मध्य प्रदेश में चीता की घर वापसी से एक नया उत्साह लौटा है. भारत ने साल 2070 तक नेट जीरो का टार्गेट रखा है. अब देश का फोकस ग्रीन ग्रोथ पर है, ग्रीन जॉब्स पर है. और इन सभी लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए, हर राज्य के पर्यावरण मंत्रालय की भूमिका बहुत बड़ी है.’पीएम मोदी ने कहा क‍ि ‘मैं सभी पर्यावरण मंत्रियों से आग्रह करूंगा कि राज्यों में सर्कुलर इकॉनॉमी को ज्यादा से ज्यादा बढ़ावा दें. इससे ठोस कचरा प्रबंधन (Solid Waste management) और सिंगल यूज़ प्लास्टिक से मुक्ति के हमारे अभियान को भी ताकत मिलेगी.’ पीएम मोदी ने यह भी कहा क‍ि ‘हम ऐसे समय मिल रहे हैं, जब भारत अगले 25 साल के लिए नए लक्ष्य तय कर रहा है. उन्‍होंने कहा क‍ि मुझे विश्वास है कि आपके प्रयासों से पर्यावरण की रक्षा में भी मदद मिलेगी और भारत का विकास भी उतनी ही तेज गति से होगा.’ पीएम ने कहा क‍ि ‘आजकल हम देखते हैं कि कभी जिन राज्यों में पानी की बहुलता थी, ग्राउंड वॉटर ऊपर रहता था, वहां आज पानी की किल्लत दिखती है. ये चुनौती सिर्फ पानी से जुड़े विभाग की ही नहीं है, बल्कि पर्यावरण विभाग को भी इसे उतना ही बड़ी चुनौती समझना होगा.’अपने संबोधन में पीएम मोदी ने इलेक्‍ट्र‍िक व्‍हीकल और स्‍क्रैप पॉल‍िसी पर भी बल द‍िया. स्‍क्रैप पॉल‍िसी के प्रत‍ि गंभीरता से काम करने का आग्रह करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि जंगलों में आग बढ़ रही है. दुन‍िया के समृद्ध देशों को देखा होगा. फॉरेस्‍ट फायर च‍िंता का व‍िषय है. उन्‍होंने कहा क‍ि ‘अगर एक बार आग लग गई तो क्‍या हम इससे न‍िपटने के ल‍िए तैयार हैं. इसके ल‍िए हमें गंभीरता से काम करना होगा. फॉरेस्‍ट फायर तकनीक को डेवलप और सेटअप करने की जरूरत है. सूखे पत्‍ते आग की बड़ी वजह होती है. पीएम ने आग से बचाव के तरीकों के साथ फॉरेस्‍ट गार्ड को ट्रेन‍िंग देने की जरूरत पर भी बल द‍िया.प्रधानमंत्री ने कहा कि ‘पूर्व की सरकारों ने पर्यावरण क्‍लीरेंस के नाम पर उलझा रखा था. अर्बन नक्‍सलाइट इसे रोकने का काम करते रहे. सरदार सरोवर बांध को रोका गया. इसको पर्यावरण व‍िरोधी बताया गया. पंडित नेहरू ने श‍िलान्‍यास क‍िया था इसका. पर्यावरण के नाम पर अर्बन नक्‍सल व‍िरोध करते रहे. मेरे आने के बाद इसको डेवलप किया गया और शानदार बनाया गया. वर्ल्‍ड बैंक और न्‍याय‍िक प्रणाली को भी प्रभाव‍ित कर देते हैं ऐसे लोग. इनको रोकने के ल‍िए हमें म‍िलकर काम करना होगा.’पीएम ने कहा कि फॉरेस्‍ट में भी पानी का प्रबंध नहीं होगा तो कैसे काम चलेगा. पर्यावरण क्‍लीरेंस पर तेजी से काम होना चाह‍िए. उन्‍होंने कहा क‍ि 6000 से ज्‍यादा काम पर्यावरण मंत्रालय में पेंड‍िंग पड़ी हैं. उन्‍होंने कहा क‍ि पेंडेंसी कम से कम होनी चाह‍िए. वर्क एन्‍वायरमेंट भी बदलना होगा. उन्‍होंने यह भी कहा क‍ि ‘कई राज्‍यों की ओर से मुझे पत्र म‍िलते हैं. पर्यावरण क्‍लीरेंस के मामले को बड़ी गंभीरता से लेता हूं और पीएम गत‍ि नेशनल मास्‍टर प्‍लान प्रोजेक्‍ट में डाल देता हूं. पहले 600 से ज्‍यादा द‍िन लगते थे, अब बहुत जल्‍दी काम हो जाता है. टेक्‍नॉलोजी से काम तेजी से हो रहा है.’ उन्होंने कहा कि ‘हमने प्रगत‍ि मैदान टनल को शुरू क‍िया. ट्रैफ‍िक जाम से भी न‍िजात म‍िल रही है. इस टनल से 55 लाख लीटर ईंधन को सालाना बचा रहे हैं. 13000 टन कार्बन उत्सर्जन कम होगा.’उन्‍होंने यह भी कहा क‍ि ‘केंद्र और राज्‍य को म‍िलकर ग्रीन इंडस्‍ट्री की तरफ बढ़ना है. पर्यावरण रक्षा के माध्‍यमों को और सशक्‍त बनाने का काम करेंगे. आर्थ‍िक सशक्‍त‍िकरण और रोजगार के मार्ग भी प्रशस्‍त करेंगे. गुजरात और राजस्‍थान, महाराष्‍ट्र, मध्‍य प्रदेश के करोड़ों लोगों को सरदार सरोवर बांध से ब‍िजली और पानी का फायदा म‍िला है. इकोलॉजी और इकोनॉमी एक साथ कैसे काम कर सकते हैं, यह सब एकता नगर में नजर आएगा. आजादी के अमृत काल में यह और बेहतर होकर निखरेगा.’ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी | आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी |Tags: National Conference, PM Modi, Pm narendra modi, PMO

Google Follow Image